आप भी बन सकते हैं क्रांतिकारी, जानिए कैसे?

आपके चारों ओर जो कुछ हो रहा है, उसे आप अगर गहराई से जानना शुरू करें, तो आप क्रांतिकारी बनने लगते हैं। लेकिन जानने वाली दृष्टि आपको पैदा करनी पड़ती है। 

तस्वीर Fine Art America से साभार।

अगर आप हर बात को बिना सवाल उठाये मान जाते हैं, तो आप आस पास को समझने की नजर पैदा नहीं कर पायेंगे।

अपनी जाति पर सवाल खड़े कीजिये। अपने सम्प्रदाय की सारी मान्यताओं पर सवाल खड़े करिये। अपने अंध-राष्ट्रवाद पर सवाल खड़े कीजिये। अपने सारे संस्कारों पर फिर से नजर डालिए। अब आप देखेंगे कि आपको किस तरह से अब तक इन सब ने कैसे गुलाम बना रखा था?

अब आप मुक्त और ताज़े दिमाग के ऊर्जा से भरे एक आज़ाद व्यक्ति हैं। आपको अब सब साफ़ दिखना शुरू हो जाता है। अब आप हर चीज़ को वैज्ञानिक दृष्टि से विश्लेषित करने लगते हैं।

अब आपको किसी से नफरत नहीं होती। अब आप सचमुच के संत हो जाते हैं। मैं अपने कई मित्रों को जनता हूं, जो ऐसी ही वैज्ञानिक दृष्टि वाले संत हैं।

ऐसे सभी लोग अनिवार्य रूप से क्रांतिकारी ही होते हैं।

हिमांशु कुमार
Previous Post Next Post